​समंदर! समंदर! ओ प्यारे समंदर, आ, बाजुओं में मेरी समा जा तू। अथाह प्रेम की है अधूरी कहानी, तेरे प्यार में आज मुझको डुबो जा तू।। नहर बनके मैं नादिया का पानी, डगर भूला मैं, भूला अपनी कहानी। नजर भरके देखूं, मैं तारे सुनहरे, नीले रंग से भर दे तू, मेरी जवानी।। समंदर! समंदर! ओ […]

Read more of this post