आज कल  मुझे पल पल  सर लगता है  मेरी ही छाया  करती है मेरा पीछा  डरती है  मैं भागता हूँ  वो मेरे पास आती है  मुझसे ये कहती है  मैं तेरा साथ नहीं छोडूंगी  मैं भी जिद्दी  नहीं मानता  बिया किये तेरा अंत  नहीं रहूँगा शांत  चाहे करूँगा  चारो और  रौशनी  नहीं देखूंगा  तेरा नामोनिशान  […]

Read more of this post