अभी तो जिए भी नहीं पूरा  और तूने जीवन को कर दिया अधुरा  कहा अभी हँस पाए खुलकर  हँसी अभी तो ओठों पे आई थी  कि तूने रोने पे कर दिया मजबूर  और कोई नहीं दूसरा  'साहिल' के दिल के हाल का जिम्मेदार  हैं बस तू मेरी जाने जिगर  जीने की छोड़ कर आस  होकर […]

Read more of this post