करना है उन्नति  तो सुनो 'साहिल' की उक्ति  आज करो सो कल  कल करो सो परसों  रहो निश्चिन्त हरपल  जब जीना है बर्षों  घोड़ा बेच सो जाओ आज  जागना कल परसों  पृथ्वी है गोल  लोग चलते है आगे  तुम चलो पीछे  तुम भी पहुँच जाओगे  पहले पहल  आज नहीं तो कल  जागो नहीं सोये रहो  […]

Read more of this post