बसता हैं अपना भारत हमारे दिल में, दिमाग में खून के हर रग-रग में हमरी जिन्दा सांसों में हमरी प्रबल विसवासों में बसता हैं अपना भारत हर कण कण में हमरे तन मन में बसंती पवन में खेत खलिहान में वन और पहाड़ में सिंह के दहाड़ में बसता हैं अपना भारत हमरे घर घर […]

Read more of this post